टेस्ला ने नोएडा-बेस्ड स्टार्टअप को दिया बड़ा ऑर्डर, सुनकर खुश हो जाएंगे आप!

0
22

[ad_1]

नई दिल्ली. टेस्ला इंडिया (Tesla India) ने नोएडा बेस्ड एक स्टार्टअप से थोक में पोर्टेबल इन्वर्टर खरीदने के लिए ऑर्डर दिया है. इन इन्वर्टर्स को इलेक्ट्रिक वाहनों (EV) चार्जिंग स्टेशन्स के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. भारत में टेस्ला द्वारा अपनी कारों को लॉन्च करने से पहले यह इस तरह की पहली बड़ी डील है.

ऑक्सी न्यूरोन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (Oxy Neuron India Pvt Ltd) ने बताया कि टेस्ला इंडिया (Tesla India) की तरफ से उन्हें ‘मैजिक बॉक्स स्मार्ट इन्वर्टर’ का पहला ऑर्डर मिला है. ये मैजिक बॉक्स इन्वर्टर 25 हजार रुपये से शुरू होता है और तीन मॉडल्स में आता है. तीन मॉडल – 1KW, 2KW और 3KW यूनिट्स के हैं. कंपनी दावा करती है कि ये लगभग दोगुना बैटरी बैकअप देते हैं. बता दें कि कंपनी का स्टार्टअप इनोवेशन एंड इन्क्युबेशन सेंटर (SIIC) IIT कानपुर में स्थित है.

ऑक्सी न्यूरोन इंडिया के फाउंडर आशुतोष वर्मा ने कहा कि उन्हें टेस्ला इंडिया की तरफ से मैजिक बॉक्स इन्वर्टर के लिए पहला ऑर्डर मिला है. उन्होंने भारत सरकार द्वारा स्टार्टअप्स को मदद करने की योजना की तारीफ करते हुए कहा कि ऐसे इनिशिएटिव उनके जैसे ही कई स्टार्टअप्स के लिए अच्छे हैं. अब वे और बेहतर काम कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें – एलन मस्‍क ने 80 साल के सांसद के लिए लिखा- मैं भूल जाता हूं कि तुम जिंदा हो

मोबाइल से मैनेज होते हैं इन्वर्टर
आशुतोष वर्मा ने कहा कि उनके द्वारा बनाए गए इन्वर्टर भारत के ग्रामीण इलाकों में बिजली बैकअप की समस्या का समाधान कर सकते हैं. ये इन्वर्टर इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) डिवाइस हैं, जिसे कि मोबाइल ऐप्लीकेशन से मैनेज किया जा सकता है. ये इन्वर्टर 15 साल की बैटरी लाइफ के साथ आते हैं और साथ ही 5 साल की रेप्लेसमेंट गारंटी भी दी गई है. अब आप समझ सकते हैं कि टेस्ला इंडिया ने ऑक्सी न्यूरोन को ही क्यों चुना होगा.

आईआईटी कानपुर के SIIC से विकास प्रकाश ने कहा कि वे इस तरह के इनोवेशन का हिस्सा बनकर काफी खुश हैं. ये इनोवेशन ग्रामीण भारत के लिए एक नए युग की शुरूआत करने की ओर अग्रसर है.
एक्साल्टा इंडिया (Exalta India) के साथ कोलैबोरेशन में ऑक्सी न्यूरोन इंडिया ने सफलतापूर्वक सोलर, ऑक्सीजन, हाईड्रोजन और नाईट्रोजन आधारित ओरिजिनल मेडिकल और एग्रीकल्चर प्रॉडक्ट्स बनाए हैं. टेस्ला के भारत में आने के बाद स्थानीय मेनुफेक्चरर्स को काफी मदद मिलेगी, क्योंकि टेस्ला को कई चीजों के लिए लोकल कंपनियों की जरूरत होगी.

ये भी पढ़ें – अब Xiaomi लाएगी इलेक्ट्रिक कार, जानें क्या हो सकती है कीमत

गडकरी ने क्या कहा था
पिछले महीने ही यूनियन मिनिस्टर नितिन गडकरी ने कहा था कि सरकार ने एलन मस्क को भारत आने और भारत में इलेक्ट्रिक कार बनाने का प्रस्ताव दिया है. सरकार कंपनी को हर संभव मदद देगी. इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में भी गडकरी ने कहा था, ‘मैंने टेस्ला से कहा है कि चीन में बनी इलेक्ट्रॉनिक कारों को भारत में मत बेचें. आपको हमारे देश में ही इलेक्ट्रिक कार का निर्माण करना चाहिए और यहीं भारत के कारों का निर्यात करना चाहिए’.

Tags: Electric Car, Elon Musk, Indian startups, Tesla



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here