NTT DATA Business Solutions और Moneycontrol की पेशकश – ‘The Future TechShot’: विकास के पथ पर डिजिटल बदलाव का सफर

0
22


आजकल, ‘डिजिटल’ शब्द हर बिज़नेस में चर्चा का विषय बन गया है. चाहे वह डिजिटल टेक्नोलॉली हो, डिजिटल डेटा हो, डिजिटल मीडिया हो, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन हो या फिर डिजिटल मार्केटिंग हो, हर सेक्टर में कंपनियां तेजी से अपने डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म को विकसित करने पर ध्यान दे रही हैं. COVID-19 महामारी ने डिजिटल साधनों को अपनाने की गति को बढ़ा दिया है, जिससे कंपनियां नए ग्राहक बनाने से लेकर ग्राहक सेवा देने तक के अपने सभी ऑपरेशन नए तरीके से शुरू कर रही हैं. वर्तमान माहौल में, संगठनों के लिए प्रतिस्पर्धा में आगे रहने और तेजी से विकसित हो रहे बिज़नेस इकोसिस्टम में बने रहने के लिए डिजिटल बदलाव ज़रूरी हो गया है.

NTT DATA Business Solutions, SAP के क्रियान्वयन में 30 वर्षों से अधिक के अनुभव और क्रॉस-इंडस्ट्री बिज़नेस प्रोसेस और उनसे जुड़े मामलों की पूरी जानकारी के साथ, एक बेहतर लीडर के रूप में उभरा है. साथ ही, संगठनों को डिजाइन, क्रियान्वयन, मैनेजमेंट और SAP समाधानों को बेहतर बनाने जैसी सुविधाओं के ज़रिए कॉर्पोरेट वैल्यू को लगातार बढ़ाने में मदद करता है. NTT DATA ने महामारी के दौरान हर सेक्टर की इंडस्ट्री के साथ काम किया, ताकि उसे चुनौतियों से निपटने और प्रतिस्पर्धी कारोबारी माहौल में फलने-फूलने में मदद मिल सके.

यह समझने के लिए कि नए जमाने की टेक्नोलॉजी किस तरह कारोबारी माहौल को नया आकार दे रही हैं, NTT DATA Business Solutions ने Moneycontrol के साथ मिलकर, 22 सितंबर, 2021 को Future Techshot Summit में इंडस्ट्री के लीडर और टेक एक्सपर्ट को एक मंच पर एक साथ ले आया, ताकि वे डिजिटल बदलावों के अब तक के सफ़र और बिज़नेस को सुव्यवस्थित करने में तकनीक की भूमिका के बारे में बात कर सकें. इस शिखर सम्मेलन की शुरुआत चीफ गेस्ट श्री रजत अग्रवाल, उप निदेशक और मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारी, राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण और Moneycontrol की रुचिरा शर्मा के बीच व्यावहारिक बातचीत के साथ हुई.

श्री अग्रवाल ने अपने डिजिटल बदलाव के सफ़र को शुरू करने से पहले, बिज़नेस में ग्राहकों की मांगों को समझने और उनकी मौजूदा प्रोसेस की कमियों की पहचान करने की आवश्यकता पर जोर दिया. उन्होंने टेक्नोलॉजी को अपनाने में आने वाली चुनौतियों और कारोबारों के भविष्य के बारे में भी खुलकर बात की.

एक ओर जहां इस महामारी ने डिजिटल साधनों को अपनाने की गति को बढ़ावा दिया है, वहीं दूसरी ओर इसे कारोबारों को सप्लाई चेन की कमजोरियों और व्यवधानों का भी सामना करना पड़ा है. इस बात पर चर्चा करने के लिए कि संगठन, भविष्य में इस तरह के व्यवधानों से कैसे बच सकते हैं और मौजूदा चुनौतियों का समाधान करने के लिए टेक्नोलॉजी का लाभ कैसे उठा सकते हैं, शिखर सम्मेलन के अगले सेगमेंट में चर्चा की गई. इस सेगमेंट में गौतम गर्ग, वरिष्ठ निदेशक और सीआईओ, PepsiCo India; एनी मैथ्यू, सीआईओ, Mother Dairy Fruit and Vegetable Pvt. Ltd.; ज़ुरवन मारोलिया, सीनियर वीपी, प्रोडक्ट सप्लाई, Godrej Interior; प्रसाद एस. देशपांडे, सीनियर वीपी, Global Procurement and Supply Chain, Biocon के प्रमुख; आनंद कुंडू, निदेशक, Solution Management, Digital Logistics, SAP द्वारा ‘सप्लाई चेन की बेहतर प्लानिंग के लिए, एडवांस टेक्नोलॉजी का उपयोग’ पर बेहद खास चर्चा की गई. पैनल में शामिल एक्सपर्ट ने कारोबारों को चुस्ती से काम करने और भविष्य के लिए तैयार रहने की आवश्यकता पर जोर दिया.

डिजिटल सप्लाई चेन, उभरती टेक्नोलॉजी, और मजबूत जोखिम प्रबंधन ढांचे, कारोबारों को भविष्य के व्यवधानों को दूर करने वाले प्रमुख कारक के रूप में उभरे हैं.

अगले सेगमेंट में, श्री जिगर शाह, एसोसिएट डायरेक्टर, NTT DATA Business Solutions ने इंटेलिजेंट सप्लाई चेन और एंड-टू-एंड ट्रैसेबिलिटी पर अपनी खास जानकारी शेयर की. उन्होंने ऑटोमेशन बढ़ाने और इंडस्ट्री को ध्यान में रखकर प्रोडक्ट बनाने के लिए, आउट-ऑफ-द-बॉक्स समाधान उपलब्ध कराने और डिजिटल रोडमैप तय करने में कारोबारों की मदद करने वाले NTT DATA Business Solutions की भूमिका पर प्रकाश डाला.

मोबाइल कंप्यूटिंग, बिग डेटा और बिजनेस एनालिटिक्स सहित टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन, कारोबारों के विकास को गति दे रहे हैं. साथ ही, डिजिटल साधन अपनाने की इस तेज गति से कदम मिलाने के लिए, सीएफओ की भूमिका भी तेजी से बदल रही है. इसलिए, NTT DATA ‘सीएफओ रणनीतिक बिज़नेस फैसले लेने के लिए, टेक्नोलॉजी का उपयोग कैसे कर सकते हैं’ विषय पर चर्चा कराने के लिए इंडस्ट्री के नेताओं को एक साथ एक मंच पर ले आया.

इस पैनल में संध्या शर्मा, मुख्य वित्तीय अधिकारी, Schindler India Private Limited; अनुराग मंत्री, ग्रुप सीएफओ, Jindal Stainless; राकेश अग्रवाल, सीईओ, Metropolis Healthcare Limited; केवल शाह, निदेशक, इंडस्ट्री और ग्राहक सलाहकार, ERP and Finance SAP; और सुजाता सरकार, एससीएफओ, Schneider Electric India शामिल रहे. यह चर्चा इस बात पर जोर देती है कि किस तरह आज के सीएफओ न केवल कॉरपोरेट बुककीपर हैं, बल्कि बिज़नेस लीडरशिप में भी प्रमुख भागीदार हैं और उन्हें निरंतर व्यवधानों और जोखिमों पर नजर रखने की ज़रूरत है.

इस बातचीत में रविंद्र वर्मा, वीपी, NTT DATA Business Solutions और सुब्रमण्यम अनंतपद्मनाभन, वीपी, Mid-Market India Sub Content मुख्य वक्ता थे. श्री वर्मा ने इस बारे में बताय कि NTT DATA Business Solutions ऑटोमोटिव, फार्मास्यूटिकल्स, सीपीजी और मैन्युफैक्चरिंग जैसी इंडस्ट्री में ग्राहकों के साथ किस तरह मिलकर काम कर रहा है. साथ ही, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन को बढ़ाने और कारोबारों को महामारी की वजह से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने में मदद करने के लिए, SAP के समाधान उपलब्ध करा रहा है. दूसरी ओर, श्री सुब्रमण्यम ने भारत के आर्थिक विकास को तेज करने में MSME की भूमिका और नई टेक्नोलॉजी को अपनाने के साथ ही ग्लोबल स्पेस में देश को आगे बढ़ाने में मदद करने की उनकी अपार संभावनाओं के बारे में बात की.

इस शिखर सम्मेलन का समापन, Moneycontrol द्वारा देश के उन डिजिटल टॉर्च बियरर को सम्मानित करके किया गया, जिन्होंने महामारी के दौरान बिज़नेस से जुड़ी प्रक्रियाओं को अनुकूलित करने व लागत को कम करने के लिए बड़े पैमाने पर तकनीकी समाधानों को अपनाया और ‘पायनियर्स ऑफ चेंज’ के रूप में उभरे. इस सम्मान का उद्देश्य कारोबारों को उनके डिजिटल बदलाव के सफ़र को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करना और भविष्य में टेक्नोलॉजी के लिए तैयार रहकर भारत का मार्ग प्रशस्त करना था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here