Google ने किया नई मोनेटाइजेशन पॉलिसी का ऐलान, जलवायु परिवर्तन के बारे में गलत जानकारी देने वाले विज्ञापनों पर लगाई रोक

0
28


नई दिल्ली. दुनिया की दिग्गज टेक कंपनी गूगल (Google) ने शुक्रवार को अपने विज्ञापनदाताओं, प्रकाशकों और यूट्यूब क्रिएटर्स (YouTube Creators) के लिए एक नई मोनेटाइजेशन पॉलिसी (Monetisation Policy) की घोषणा की जो जलवायु परिवर्तन (Climate Change) के अस्तित्व और कारणों के बारे में आम सहमति का खंडन करने वाले विज्ञापनों (Advertisements) को प्रतिबंधित करेगी.

गूगल ने कहा कि हाल के वर्षों में, उसे अपने विज्ञापन और पब्लिशर्स पार्टनर से इस मुद्दे पर शिकायतें मिली हैं जिन्होंने जलवायु परिवर्तन के बारे में गलत दावों के साथ चलने वाले या गलत दावों को प्रचारित करने वाले विज्ञापनों के बारे में चिंता व्यक्त की है.

इस बारे में गूगल ने एक ब्लॉगपोस्ट में कहा कि विज्ञापनदाता नहीं चाहते कि उनके विज्ञापन इस सामग्री के बगल में दिखाई दें और प्रकाशक और क्रिएटर्स नहीं चाहते कि इन दावों को बढ़ावा देने वाले विज्ञापन उनके पेज या वीडियो पर दिखाई दें.

विज्ञापनदाताओं और पब्लिशर्स के लिए एक नई मोनेटाइजेशन पॉलिसी की घोषणा
इसने कहा, ”इसीलिए आज हम गूगल विज्ञापनदाताओं, पब्लिशर्स और यूट्यूब क्रिएटर्स के लिए एक नई मोनेटाइजेशन पॉलिसी की घोषणा कर रहे हैं, जो ऐसी सामग्री के विज्ञापनों और मुद्रीकरण को प्रतिबंधित करेगी जो जलवायु परिवर्तन के अस्तित्व एवं कारणों के बारे में अच्छी तरह से स्थापित वैज्ञानिक आम सहमति का खंडन करती है. हम अगले महीने इस पॉलिसी को लागू करना शुरू कर देंगे.”

अन्य जलवायु संबंधी विज्ञापनों की अनुमति रहेगी जारी
गूगल ने कहा कि इस नई पॉलिसी के खिलाफ सामग्री का मूल्यांकन करते समय, वह उस संदर्भ को ध्यान से देखेगा जिसमें संबंधित दावे किए जाते हैं. इसने कहा, ”हम अन्य जलवायु संबंधी विषयों पर विज्ञापनों और मोनेटाइजेशन की अनुमति देना जारी रखेंगे, जिसमें जलवायु नीति पर सार्वजनिक बहस, जलवायु परिवर्तन के अलग-अलग प्रभाव, नए अनुसंधान और बहुत कुछ शामिल हैं.”

ये भी पढ़ें- अगली बार बंद हो जाए WhatsApp-FB, तो बहुत काम आएंगी ये शानदार मैसेजिंग ऐप, देखें लिस्ट

गूगल ने कहा कि उसने जलवायु विज्ञान के विषय पर आधिकारिक स्रोतों से परामर्श किया है, जिसमें वे विशेषज्ञ भी शामिल हैं जिन्होंने इस नीति और इसके मानकों को बनाने में जलवायु परिवर्तन आकलन रिपोर्ट पर संयुक्त राष्ट्र अंतर सरकारी पैनल में योगदान दिया है. कंपनी ने कहा कि नई नीति न केवल उसके विज्ञापन इकोसिस्टम की प्रामाणिकता को मजबूत करने में मदद करेगी, बल्कि इसने पिछले दो दशकों में एक कंपनी के रूप में हमारे द्वारा स्थिरता को बढ़ावा देने और जलवायु परिवर्तन का सामना करने के लिए किए गए कार्यों को भी दृढ़ता से रेखांकित किया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here