वाट्सऐप, लॉटरी, सिम स्वैप और फिर आपके अकाउंट का पूरा पैसा साफ!

0
68

[ad_1]

नई दिल्ली. साइबर फ्रॉड करने वालों ने ठगी की एक नई ट्रिक निकाल ली है. ये ट्रिक बहुत खतरनाक है और इसके जरिए आपका पूरा का पूरा बैंक बैलेंस साफ किया जा सकता है. इसका नाम है सिम स्वैप (Sim Swap). इस स्टोरी में आप इसी के बारे में पूरी जानकारी पाएंगे. ये भी जानेंगे कि ठगों की इस ट्रिक से कैसे बचा जाए. ये स्टोरी News18Hindi की उसी सीरीज का हिस्सा है, जिसमें आम लोगों को ऐसे ही तमाम फ्रॉड्स के बारे में जागरुक किया जाता है. वह पूरी सीरीज आप यहां पढ़ सकते हैं – Link.

क्या है सिम स्वैप

जैसा कि नाम से ही जाहिर है, फ्रॉड का ये तरीका सिम कार्ड से जुड़ा हुआ है. आपके नाम से चल रहे फोन नंबर (सिम कार्ड) को बंद करवाकर ये ठग उसी नंबर का दूसरा सिम जारी करवा लेते हैं. और जब तक व्यक्ति संभलता है, तब तक तो पूरा पैसा साफ कर दिया जाता है. जब ठग एक OTP की मदद से हजारों रुपये का फ्रॉड कर लेते हैं, तो सोचिए यदि आपका सिम ही उनके पास चला जाए तो वो लोग क्या-क्या कर सकते हैं.

होता कैसे है ये सिम स्वैप

आपका फोन नंबर बंद करवाकर कोई और कैसे जारी करवा सकता है? ये सवाल वाजिब है. तो इसे एक उदाहरण से समझने की कोशिश कीजिए. एक व्यक्ति है जिसका नाम है गोविंद. गोविंद को किसी अनजान नंबर से एक फोन आया. फोन करने वाले ने गोविंद को बताया कि आपका एक लाख रुपये की लॉटरी निकली है. ये लॉटरी वाट्सऐप (WhatsApp) की तरफ से आयोजित की गई थी और उन लोगों के नाम शामिल थे, जो वाट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं. करोड़ों नामों में से कुछ लोगों का नाम ही 1 लाख रुपये के इनाम के लिए चुना गया है.

ये भी पढ़ें – बिजली का बिल भरने के नाम पर फ्रॉड, अलर्ट नहीं हुए तो लुट जाएंगे आप!

गोविंद ने पूछा कि ये इनाम पाने के लिए क्या करना होगा. तो कॉल करने वाला, जोकि एक ठग है, कहेगा कि आपको अपना आधार कार्ड (Aadhar Card), पैन कार्ड (PAN Card), बैंक डिटेल और पासपोर्ट साइज फोटो भेजने होंगे. आपको एक भी पैसा नहीं देना होगा और 5-6 दिनों के अंदर 1 लाख रुपये आपके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे. ये सुनकर गोविंद को लगा कि डील अच्छी है, सिर्फ अपनी जानकारी ही तो शेयर करनी है और 1 लाख रुपये मिल जाएंगे.

इस पर गोविंद ने आधार, पैन, बैंक डिटेल और एक पासपोर्ट साइज फोटो शेयर कर दीं. अब शुरू होता है सिम स्वैप कराने के खेल. एक सिम को बंद कराने या शुरू कराने के लिए आधार कार्ड और फोटो ही लगती है. ठग आपके आधार कार्ड और फोटो का इस्तेमाल करके पहले सिम कार्ड बंद करवा देते हैं. सिम बंद होने के बाद वही नंबर फिर से अपने नाम पर निकलवा लेते हैं. इस तरह आपका सिम कार्ड किसी दूसरे ने नाम पर शिफ्ट हो जाता है. आपको लगता है शायद नेटवर्क या फोन खराब होने की वजह से आपको सिग्नल दिखाई नहीं दे रहे.

सिम स्वैप करवा लिया तो ट्रांसफर कैसे संभव?

गोविंद से उसकी बैंक डिटेल भी मांगी गई थी. अब गोविंद के बैंक अकाउंट को ऑनलाइन एक्सेस करने की कोशिश की जाएगी. फोन नंबर के जरिए पासवर्ड बदल लिया जाएगा और जिस नंबर पर ओटीपी आने वाले है, वह तो ठगों ने पहले ही अपने नाम से जारी करवा लिया है. अब धड़ाधड़ आपका बैंक अकाउंट खाली कर दिया जाएगा और सिम को तोड़कर फेंक दिया जाएगा. उम्मीद है आपको सिम स्वैप की पूरी प्रक्रिया समझ आ गई होगी.

ये भी पढ़ें – एक SMS ने पागल बना दिया! कुछ ही पलों में खो दिए 3 लाख रुपये

तो इससे बचा कैसे जाए

आपने गोविंद का उदाहरण पढ़ा और समझा. अब आप खुद जानते हैं कि गोविंद कैसे बच सकता था. किसी भी तरह की धोखाधड़ी से बचने के लिए आपको निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए-
1. अपने डॉक्यूमेंट्स (आधार, पैन, बैंक डिटेल इत्यादी) किसी भी संदिग्ध व्यक्ति के साथ शेयर न करें.
2. लालच न करें. बिना लॉटरी डाले लॉटरी निकल नहीं सकती और वाट्सऐप कभी इस तरह की लॉटरी का आयोजन नहीं करता.
3. यदि आपका नेटवर्क गायब होता है तो तुरंत अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें. किसी दूसरे फोन से कॉल कर सकते हैं.
4. अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड की जानकारी किसी दूसरे को न दें.
5. किसी के कहने पर अपने फोन में कोई ऐप इंस्टॉल न करें.
6. यदि कोई व्यक्ति लिंक शेयर करे तो उसे कभी न खोलें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here